सुर्खियां - Google समाचार

Wednesday, 26 July 2017

चीन के एक्सपर्ट्स के सुर बदले, बोले- जंग का विरोध करें भारतीय, चीनी डिप्लोमैट

बीजिंग.चीन के एक विशेषज्ञ ने कहा है कि भारत और चीन के बीच डोकलाम सीमा को लेकर चल रहा तनाव दोनों देशों के बीच युद्ध का कारण बन सकता है। दोनों देशों के राजनयिकों को इसके खिलाफ खड़ा होना चाहिए। जंग दोनों देशों के लिए नुकसानदेह...
चारहार इंस्टीट्यूट में शोधकर्ता और चाइना वेस्ट नॉर्मल यूनिवर्सिटी में सेंटर फॉर इंडियन स्टडीज के निदेशक लोंग शिंगचुन ने कहा, ‘दोनों देशों के बीच इससे पहले गैर जरूरी युद्ध हो चुका है और फिर से पनपे युद्ध के हालात दोनों देशों के लिए हानिकारक होंगे।’ उन्होंने कहा कि यह सोचना गलत है कि चीन डोकलाम सीमा पर उपजे तनाव का इस्तेमाल इसी साल होने वाले चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय सम्मेलन के लिए कर रहा है।

न्यूजपेपर ‘ग्लोबल टाइम्स’ में लिखे अपने लेख में लोंग कहते हैं, ‘युद्ध की संभावना असंभव नहीं है। इससे पहले भी गलत समय और गलत जगह अनावश्यक युद्ध हो चुका है। इसलिए, दोनों पक्षों के राजनयिकों का यह लक्ष्य होना चाहिए कि युद्ध का प्रतिकार करें, जिसे कोई नहीं चाहता।’ भारत, भूटान और चीन की तिहरी सीमा से लगे डोकलाम में भारत और चीन की सेनाएं महीने भर से अधिक समय से तनातनी की स्थिति में हैं।

Source:-Bhaskar
View more about our services:-Email Migration service provider company

No comments:

Post a Comment

Top Stories - Google News Samacahr