सुर्खियां - Google समाचार

Monday, 24 July 2017

जानिए, DU में दाखिला के साथ क्‍या है बड़ी चुनौती, उदासीन विवि प्रशासन

नई दिल्ली [ जेएनएन ] । दिल्ली विश्वविद्यालय में छलांग लगाती कटआफ के कारण दाखिला लेना एक बडी चुनौती है, लेकिन उससे अधिक चुनौती यहां पर रहना और खाना है। हास्टल की कमी से जूझ रहा डीयू अब हास्टलों की फीस भी बढाने पर विचार कर रहा है।
डीयू के परास्नातक के छात्रों के लिए रहने वाले डीएस कोठारी हास्टल की फीस भी बढाई जा चुकी है। ऐसी सूचना है कि हास्टल के आवंटन से पहले फिर फीस बढोतरी हो सकती है। कुछ कॉलेज इस साल अपने यहां हास्टल की फीस बढोतरी के अलावा मेस में का चार्ज भी बढा सकते हैं।
डीयू में प्रतिवर्ष सभी कोर्स मिलाकर लगभग 70 हजार से अधिक छात्र दाखिला लेते हैं, लेकिन यहां के सभी हास्टल की सीटों को मिला दिया जाए तो सीटों की संख्या में महज 35 सौ है। ऐसे में छात्रों को मजबूरी में बाहर का रास्ता देखना पडता है।
दिलचस्प यह है कि दिल्ली विश्वविद्यालय के पास लगभग 100 एकड जमीन खाली है, लेकिन उस पर हास्टल बनाने का किसी तरह का प्रस्ताव नहीं है। हालांकि, इस बीच डीडीए के खाली फ्लैट खरीदने का प्रस्ताव जरूर आया था जो शिक्षक संगठनों के विरोध के बाद अधर में है।
DU के हास्टल वाले कॅालेज और उनमें सीटों की संख्या- 

1- दौलतराम कॉलेज कॉलेज फार वुमन : 203
2- हंसराज कॉलेज : 198
3- हिंदू कॉलेज : 182
4- इंद्रप्रस्थ कॉलेज फार वुमन : 370
5- किरोडीमल कॉलेज : 180
6- मिरांडा हाउस : 366
7- रामजस कॉलेज : 80 लड़कियों के लिए 130 लडकों के लिए
8- लेडी श्रीराम कॉलेज फार वुमन : 295
9- श्री वेंकटेश्वर कॉलेज : 72 लडकियों के लिए 72 लडकों के लिए
10- श्रीराम कॉलेज आफ कामर्स : 53 लडकियों के लिए 150 लडकों के लिए
11- इंटरनेशनल स्टूडेंट्स हास्टल फार वुमन : 19
12- एसजीटीबी खालसा कॉलेज : 147
13- इंटरनेशनल स्टूडेंट्स हाउस : 30
14- केशव महाविद्यालय : 78
15- महाराजा अग्रसेन कॉलेज : केवल लडकियों के लिए 78 सीट
16- शहीद राजगुरु कॉलेज फार अप्लाइड साइंसेज फार वुमन : 119
18- अंडर ग्रेजुएट हॉस्टल फार गल्र्स : 119
  हिंदू कॉलेज में लड़कियों के लिए बने हास्टल में अभी सीटें आवंटित नहीं हुई हैं।

Source:-Jagran
View more about our services:-Email Migration

No comments:

Post a Comment

Top Stories - Google News Samacahr